EPaper SignIn

आजम खां: जौहर ट्रस्ट लेनदेन मामले में बढ़ा जांच का दायरा, सपा सरकार में तैनात रहे कई अफसरों से होगी पूछताछ
  • 151171416 - AKANKSHA DUBEY 0



सपा नेता आजम खां के जौहर ट्रस्ट के लेनदेन की शिकायतों से शुरू हुई आयकर विभाग की जांच का दायरा बढ़ता हुआ दिख रहा है। आयकर के रडार पर सपा शासन में लोक निर्माण विभाग, जिला पंचायत और सीएंडडीएस से जुड़े वह अफसर आ गए हैं जिन्होंने निर्माण कार्यों में नियम विरुद्ध काम किया है।

 
 आयकर विभाग इन अफसरों को नोटिस जारी कर इनसे पूछताछ कर सकता है। सपा शासन में लोक निर्माण विभाग, सीएंडडीएस व जिला पंचायत के माध्यम से तमाम कार्य कराए गए थे, इसमें जौहर यूनिवर्सिटी के भवनों का भी निर्माण भी शामिल है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी में नियम विरुद्ध लोक निर्माण विभाग ने सड़क भी बनवाई थी।
 


साथ ही कई और सड़कों का निर्माण कराया था। अब जौहर ट्रस्ट से जुड़े लेनदेन के मामले की जांच चल रही है। इसी बीच आयकर विभाग के निशाने पर ठेकेदार और अफसर भी जांच के घेरे में आ गए हैं।

सपा शासन में रामपुर में तैनात लोक निर्माण, सीएंडडीएस व जिला पंचायत से जुड़े अफसरों से आयकर विभाग पूछताछ कर सकता है। सूत्रों के अनुसार इन अफसरों की सूची तैयार कराई जा रही है। जल्द ही इनसे पूछताछ हो सकती है। ऐसे में इन अफसरों की भी नींद उड़ी हुई है।

 

 

दान देने वालों की कुंडली खंगाल रहा आयकर विभाग

आयकर विभाग के निशाने पर वह लोग भी हैं जिन्होंने एक करोड़ रुपये से ज्यादा का दान जौहर यूनिवर्सिटी के लिए दिया है। इन दानदाताओं की सूची बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। जौहर यूनिवर्सिटी के निर्माण के लिए जौहर ट्रस्ट को तमाम लोगों ने दान दिया था।

इसमें एक करोड़ रुपये से ज्यादा दान देने वालों की संख्या बहुत ज्यादा थी। आयकर विभाग ऐसे दानदाताओं सूची तैयार कर रहा है। सूची में शामिल दानदाताओं की कुंडली को खंगालने का काम शुरू कर दिया है। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही इन दानदाताओं से आय के स्रोतों के बारे में जानकारी ली जा सकती है

आयकर के निशाने पर आने वाले ऐसे ठेकेदार भी हैं जिन्होंने अपनी गर्दन बचाने के लिए सपा नेता आजम खां का साथ छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया। इसके बाद भी वे अपनी गर्दन नहीं बचा पा रहे हैं, क्योंकि इनकी शिकायत तब की गई थी जब वे आजम के करीबी थी।

ऐसे में भाजपा में आने के बाद भी आयकर विभाग इन पर शिकंजा कस रहा है। सपा सरकार में रामपुर में निर्माण कार्यों का ठेका आजम खां के चहेतों को दिया जाता था। उस वक्त ठेका मिलने के बाद तमाम लोग मालामाल हो गए। सपा शासन में मालामाल होने के बाद जब सत्ता परिवर्तन हुआ और सपा नेता पर कानूनी शिकंजा कसा तो वही ठेकेदारों ने उनसे मुंह मोड़ लिया।

जब इनकी शिकायतें विभिन्न एजेंसियों से की गई तो इन ठेकेदारों ने अपनी गर्दन बचाने के लिए भाजपा का दामन थाम लिया और बड़े भाजपा नेताओं के करीब आ गए। हालांकि, जब आयकर विभाग ने छापा मारा तो भाजपा नेता चाहकर भी ऐसे ठेकेदारों को नहीं बचा सके।

आयकर विभाग के निशाने पर आए ठेकेदारों का चिट्ठा तैयार किया जा रहा है। इन पर भी शिकंजा कसने की तैयारी की गई है। एक ठेकेदार से आयकर विभाग की टीम पूछताछ भी कर चुकी है। जल्द ही इन ठेकेदारों पर कार्रवाई के संकेत आयकर विभाग ने दिए हैं।

...और खड़ा कर लिया करोड़ों का साम्राज्य

सपा नेता आजम खां के इर्द-गिर्द घूमते-घूमते कई ठेकेदारों ने करोड़ों रुपये का साम्राज्य खड़ा कर लिया। कोई उनका सूटकेस उठाता था और कोई उन्हें रेलवे स्टेशन से लाने और ले जाने के लिए आधी रात खड़ा रहता था। ऐसे ठेकेदारों ने सपा सरकार में आजम खां की मेहरबानी के चलते करोड़ों रुपये के ठेके लिए और मोटा मुनाफा कमाकर करोड़ों का साम्राज्य खड़ा कर लिया


Subscriber

173866

No. of Visitors

FastMail

वाराणसी - 2870 करोड़ रुपये से होगा वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, कैबिने दी मंजूरी     लखनऊ - अखि‍लेश ने सरकार को घेरा जो लोग चुनावी चंदे के नाम पर करोड़ों रुपए खाये     जम्मू-कश्मीर - बारामूला मुठभेड़ में सेना के जवानों ने पाकिस्तान के दो खूंखार आतंकी को किया ढेर     ईरान - ईरान की सबसे खतरनाक सेना IRGC को कनाडा ने बताया आतंकी संगठन     तमिलनाडु - कल्लाकुरिची में जहरीली शराब का कहर, 29 लोगों की मौत; 60 की हालत नाजुक     दिल्ली - UP-बिहार समेत 10 राज्यों में भी गिरेंगी राहत की बूंदें     दिल्ली - इंतजार खत्म! दिल्ली-NCR में अगले कुछ घंटों में बारिश का अनुमान