वाराणसी 22 फ़रवरी को पीएम मोदी आयंगे काशी संत समाज करेगा अभिनंदन, किए जाएंगे धार्मिक अनुष्ठान वाराणसी राहुल गांधी ने जहां खड़े होकर दिया भाषण, भाजपा नेता ने उस जगह को 51 लीटर गंगाजल से धोया यूपी गरज-चमक के साथ बरसेंगे बादल, गिरेंगे ओले, क्या लौटेगी कड़ाके की ठंड? मुजफ्फरनगर टाइमर बम की मास्टरमाइंड इमराना गिरफ्तार, पूछताछ में मिली चौंकाने वाली जानकारी नई दिल्ली पहाड़ी इलाकों में होगी बर्फबारी, दिल्ली में आंधी और बिजली के साथ बारिश के आसार मध्य प्रदेश कमलनाथ आज कर सकते हैं BJP नेताओं से मुलाकात नई दिल्ली किसानों के साथ आज होगी सरकार की चौथे दौर की वार्ता, शंभू बॉर्डर पर डटे हैं आंदोलनकारी
EPaper SignIn
वाराणसी - 22 फ़रवरी को पीएम मोदी आयंगे काशी संत समाज करेगा अभिनंदन, किए जाएंगे धार्मिक अनुष्ठान     वाराणसी - राहुल गांधी ने जहां खड़े होकर दिया भाषण, भाजपा नेता ने उस जगह को 51 लीटर गंगाजल से धोया     यूपी - गरज-चमक के साथ बरसेंगे बादल, गिरेंगे ओले, क्या लौटेगी कड़ाके की ठंड?     मुजफ्फरनगर - टाइमर बम की मास्टरमाइंड इमराना गिरफ्तार, पूछताछ में मिली चौंकाने वाली जानकारी     नई दिल्ली - पहाड़ी इलाकों में होगी बर्फबारी, दिल्ली में आंधी और बिजली के साथ बारिश के आसार     मध्य प्रदेश - कमलनाथ आज कर सकते हैं BJP नेताओं से मुलाकात     नई दिल्ली - किसानों के साथ आज होगी सरकार की चौथे दौर की वार्ता, शंभू बॉर्डर पर डटे हैं आंदोलनकारी    

तेज सर्दी, कोहरा एवं अफवाहों का मेला पर पड़ा असर, मेला अवधि २८ फरवरी तक बढ़ाई जाए
  • 151170801 - PAWAN SHIVHARE 0



ग्वालियर। श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेला व्यापारी संघ ने प्रदेश के मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री श्रीमन्त ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन पत्र भेजकर श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेला की अवधि २८ फरवरी तक बढ़ाने एवं इस अवधि तक ऑटोमोबाइल सेक्टर में वाहनों की खरीद पर टैक्स छूट जारी रखे जाने का विनम्र आग्रह किया है।
मेला व्यापारी संघ के अध्यक्ष महेन्द्र भदकारिया, सचिव महेश मुदगल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता अनिल पुनियानी, एवं संयोजक उमेश उप्पल द्वारा दिए इस ज्ञापन में कहा गया है कि महान सिंधिया शासकों द्वारा करीब सवा सौ वर्ष पूर्व प्रारंभ किया गया ऐतिहासिक ग्वालियर व्यापार मेला वर्ष २२-२३ का आयोजन प्रारंभ हो चुका है। इस वर्ष ग्वालियर मेला पर जबरदस्त सर्दी व कोहरे की मार पड़ रही है, इस कारण अभी तक के दिनों में कम ही सैलानी आ सके हैं, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने भी तेज सर्दी से बचाव के लिए लोगों को आवश्यक कार्य से ही आने जाने की नसीहत दी थी, इस कारण मेला में अभी तक ओवरऑल कारोबार कम ही हो सका है। इसके अलावा चीन से कोरोना की नई लहर आने की अफवाह के चलते भी दुकानदार असमन्जश में रहे। हालांकि यह अफवाह वास्तविक धरातल पर निर्मूल साबित हुई। इस अफवाह व नई गाइडलाइन के चलते विगत वर्ष के कटु अनुभवों को देखते हुए दुकानदार कुछ विलम्ब से ही मेला में अपनी दुकानें व शोरूम स्थापित कर सके।
मेला व्यापारी संघ के पदाधिकारियों ने इन विषम परिस्थितियों का हवाला हुए मुख्यमन्त्री, केंद्रीय मंत्री श्रीमन्त सिंधिया एवं मेला प्राधिकरण से आग्रह किया है कि श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेला की समयअवधि २८ फरवरी तक बढ़ाई जाए एवं इस अवधि तक ऑटोमोबाइल सेक्टर में वाहनों की खरीद पर टैक्स छूट को भी जारी रखा जाए। ताकि मेला में अपनी दुकानें व शोरूम लगाने वाले किसी भी बड़े व्यवसायी व छोटे-मझोले दुकानदार को घाटे का सामना न करना पड़े।
निवेदक
महेन्द्र भदकारिया महेश मुदगल,अनिल पुनियानी, उमेश उप्पल, कल्ली पण्डित, सुरेश हिरयानी, अनुजसिंह, हरिकांत समाधिया, मुकेश अग्रवाल, संजय गर्ग, रामस्वरूप लल्ला शिवहरे, अरुण केन, राजेंद्र भदोरिया, सुरेंद्र जुनेजा, राजकुमार जैन, चंदन बैस, अनिल शर्मा, रमेश शर्मा , कमलसिंह, ललित अग्रवाल, संतोष उपाध्याय, शाहिद खान ।

पवन शिवहरे रिपोर्टिंग इंचार्ज कम्पू 151170801


Subscriber

172862

No. of Visitors

FastMail

वाराणसी - 22 फ़रवरी को पीएम मोदी आयंगे काशी संत समाज करेगा अभिनंदन, किए जाएंगे धार्मिक अनुष्ठान     वाराणसी - राहुल गांधी ने जहां खड़े होकर दिया भाषण, भाजपा नेता ने उस जगह को 51 लीटर गंगाजल से धोया     यूपी - गरज-चमक के साथ बरसेंगे बादल, गिरेंगे ओले, क्या लौटेगी कड़ाके की ठंड?     मुजफ्फरनगर - टाइमर बम की मास्टरमाइंड इमराना गिरफ्तार, पूछताछ में मिली चौंकाने वाली जानकारी     नई दिल्ली - पहाड़ी इलाकों में होगी बर्फबारी, दिल्ली में आंधी और बिजली के साथ बारिश के आसार     मध्य प्रदेश - कमलनाथ आज कर सकते हैं BJP नेताओं से मुलाकात     नई दिल्ली - किसानों के साथ आज होगी सरकार की चौथे दौर की वार्ता, शंभू बॉर्डर पर डटे हैं आंदोलनकारी